chhammakchhallokahis

रफ़्तार

Total Pageviews

छम्मकछल्लो की दुनिया में आप भी आइए.

Pages

www.hamarivani.com
|

Tuesday, April 28, 2020

नाम में क्या रखा है!

मेरे नाम के आगे कोई सरनेम नहीं है। यहाँ तक कि मेरे माँ के नाम और भाइयों और बाउजी के नामों में सरनेम का कोई चक्कर नहीं है। बचपन में तो मुझे पता भी नहीं था कि नाम और सरनेम का कोई चक्कर भी होता है। समाज बच्चों के मन को जितना चाहे, बदल दे।
मैने अपनी बड़ी बेटी के नाम में भी नहीं लगाया। स्कूल की नोटिस झेली। उनकी धमकियों का सामना किया। छोटी के स्कूल में नाम लिखाते समय ऐसे सवालों का सामना करना पड़ा पति को कि तंग आकर उन्होने अपना नाम और सरनेम बेटी के नाम के साथ लगा दिया।
लोग कहते हैं, नाम में क्या रखा है! हम भी कहते हैं, नाम में क्या रखा है! फिर क्यों हमारे लिए अनिवार्य हो जाता है नाम या सरनेम बदलना?
क्या आपको लगता है,
1. स्त्रियॉं का नाम या सरनेम बदलना जरूरी है-
a) हाँ
b) नहीं
c) पता नहीं
d) मेरी राय-
हमारे यूट्यूब चैनल #बोलेविभा42 पर आपके विचार ऊपर लिखे फ़ारमैट में चैनल पर आमंत्रित हैं।
https://www.youtube.com/watch?v=oduNfSxCmUk

4 comments:

पवन शर्मा said...

कोई जरूरी नहीं....!

Girish Billore Mukul said...

सत्य वाह

Vibha Rani said...

बहुत बहुत धन्यवाद पवन जी और गिरीश जी।

संगीता पुरी said...

नाम रखना भी माता-पिता-रिश्तेदारों के विचार को प्रभावित करता है, जैसी सोच वैसा नाम !